Home / uttar pradesh / [शाही स्‍नान] इलाहाबाद कुम्भ मेला 2019| allahabad Kumbh Mela 2019

[शाही स्‍नान] इलाहाबाद कुम्भ मेला 2019| allahabad Kumbh Mela 2019

इलाहाबाद कुम्भ मेला 2019|कुम्भ मेला इलाहाबाद 2019|kumbh mela 2019 in hindi|कुम्भ मेला इलाहाबाद allahabad uttar pradesh|कुम्भ मेला 2019|कुम्भ मेला इलाहाबाद|kumbh mela 2019 dates|

प्यारे दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में इलाहाबाद कुम्भ मेला 2019 जानकारी देने जा रहे हैं| आज हम इस आर्टिकल में कुम्भ मेला इलाहाबाद 2019 विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे|Kumbh Mela 2019 Dates अगले साल यानि 2019 में संगम नगरी इलाहाबाद में लगने वाले कुंभ मेले के शाही स्‍नान की तारीख का ऐलान हो चुका है। यह शाही स्नान 14 जनवरी से शुरू होगा।

हिंदू धर्म में कुंभ  मेला एक महत्‍वपूर्ण पर्व के रूप में मनाया जाता है| जिसमें देश-विदेश से सैकड़ों श्रद्धालु कुंभ पर्व स्थल हरिद्वार, इलाहाबाद, उज्जैन और नासिक में स्नान करने के लिए एकत्रित होते हैं। कुंभ का संस्कृत अर्थ कलश होता है। हिंदू धर्म में कुंभ का पर्व 12 वर्ष के अंतराल में आता है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नगरी इलाहाबाद कुंभ मेला 2019 होने जा रहा है|

कुम्भ मेला क्या है  

पौराणिक कथाओं के मुताबिक भगवान विष्णु अमृत से भरा कुंभ (बर्तन) लेकर जा रहे थें कि असुरों से छीना-झपटी में अमृत की चार बूंदें गिर गई थीं। यह बूंदें प्रयाग, हरिद्वार, नासिक और उज्जैन रुपी तीर्थस्थानों में गिरीं। तीर्थ वह स्थान होता है जहां कोई भक्त इस नश्वर संसार से मोक्ष को प्राप्त होता है। ऐसे में जहां-जहां अमृत की बूंदें गिरी वहां तीन-तीन साल के अंतराल पर बारी-बारी से कुंभ मेले का आयोजन होता है। इन तीर्थों में भी संगम को तीर्थराज के नाम से जाना जाता है। संगम में हर बारह साल पर कुंभ का आयोजन होता है।

इलाहाबाद कुम्भ मेला 2019

भारत में महाकुंभ धार्मिक स्तर पर बेहद पवित्र और महत्वपूर्ण आयोजन है। कुम्भ मेला इलाहाबाद allahabad uttar pradesh लाखों लोग शिरकत करते हैं।kumbh mela 2019 महीने भर चलने वाले इस आयोजन में तीर्थयात्रियों के ठहरने के लिए टेंट लगा कर एक छोटी सी नगरी अलग से बसाई जाती है। यहां सुख-सुविधा की सारी चीजें जुटाई जाती हैं। यह आयोजन प्रशासन, स्थानीय प्राधिकरणों और पुलिस की मदद से आयोजित किया जाता है।

कुम्भ मेला इलाहाबाद में दूर-दूर के जंगलों, पहाड़ों और कंदराओं से साधु-संत आते हैं। कुंभयोग की गणना कर स्नान का शुभ मुहूर्त निकाला जाता है। स्नान के पहले मुहूर्त में नागा साधु स्नान करते हैं। इन साधुओं के शरीर पर भभूत लिपटी रहती है, बाल लंबे होते हैं और यह मृगचर्म पहनते हैं। स्नान के लिए विभिन्न नागा साधुओं के अखाड़े बेहद भव्य तरीके से जुलूस की शक्ल में संगम तट पर पहुंचते हैं। पिछला महाकुंभ 2013 में पड़ा था तो अगला कुंभ 2025 में पड़ेगा|

kumbh mela 2019 dates/ कुम्भ मेला इलाहाबाद 2019 शाही स्नान की तारीख

  • 14-15 जनवरी 2019: मकर संक्रांति (पहला शाही स्नान)
  • 21 जनवरी 2019: पौष पूर्णिमा
  • 31 जनवरी 2019: पौष एकादशी स्नान
  • 04 फरवरी 2019: मौनी अमावस्या (मुख्य शाही स्नान, दूसरा शाही स्नान)
  • 10 फरवरी 2019: बसंत पंचमी (तीसरा शाही स्नान)
  • 16 फरवरी 2019: माघी एकादशी 
  • 1 9 फरवरी 2019: माघी पूर्णिमा
  • 04 मार्च 2019: महा शिवरात्री 

प्यारे दोस्तों इलाहाबाद कुम्भ मेला 2019 जानकारी किस प्रकार लगी अगर आप इससे संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं हमारे कमेंट बॉक्स पर लिख दी हम उसका उत्तर अवश्य देंगे आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं इससे आप उत्तर प्रदेश की योजनाओं के साथ अपडेट रहेंगे|

About Vivek Dutta

Check Also

उत्तर प्रदेश एंटी भू-माफिया पोर्टल

[शिकायत पंजीकरण] उत्तर प्रदेश एंटी भू-माफिया पोर्टल

एंटी भू माफिया portal|एंटी भू माफिया पोर्टल उत्तर प्रदेश|एंटी भू माफिया पोर्टल यूपी|एंटी भू माफिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!