Breaking News
Home / pradhan mantri yojana / दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना| संपूर्ण जानकारी

दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना| संपूर्ण जानकारी

दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना|दीनदयाल अंत्योदय योजना|दीनदयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन|दीन दयाल अंत्योदय योजना|Deendayal Antyodaya Yojana|

दीनदयाल अंत्योदय योजना का उद्देश्य योजना का उद्देश्य कौशल विकास और अन्य उपायों के माध्यम से आजीविका के अवसरों में वृद्धि कर शहरी और ग्रामीण गरीबी को कम करना है। मेक इन इंडिया, कार्यक्रम के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए सामाजिक तथा आर्थिक बेहतरी के लिए कौशल विकास आवश्यक है। दीनदयाल अंत्योदय योजना को आवास और शहरी गरीबी उपशमन मंत्रालय (एच.यू.पी.ए.) के तहत शुरू किया गया था। भारत सरकार ने इस योजना के लिए 500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

इस योजना का लक्ष्य शहरी गरीब परिवारों कि गरीबी और जोखिम को कम करने के लिए उन्हें लाभकारी स्वरोजगार और कुशल मजदूरी रोजगार के अवसर का उपयोग करने में सक्षम करना, जिसके परिणामस्वरूप मजबूत जमीनी स्तर के निर्माण से उनकी आजीविका में स्थायी आधार पर सराहनीय सुधार हो सके।

दीनदयाल अंत्योदय योजना

दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदययोजना का लक्ष्य चरणबद्ध तरीके से शहरी बेघरों हेतु आवश्यक सेवाओं से लैस आश्रय प्रदान करना भी होगा। योजना शहरी सड़क विक्रेताओं की आजीविका संबंधी समस्याओं को देखते हुए उनकी उभरते बाजार के अवसरों तक पहुँच को सुनिश्चित करने के लिए उपयुक्त जगह, संस्थागत ऋण, और सामाजिक सुरक्षा और कौशल के साथ इसे सुविधाजनक बनाने से भी संबंधित है।

दीनदयाल अंत्‍योदय योजनाराष्‍ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन गरीबों के सामुदायिक संस्‍थानों के माध्‍यम से ग्रामीण गरीबी समाप्‍त करना तथा आजीविका के विविध स्रोतों को प्रोत्‍साहन देना|दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना का उद्देश्य कौशल विकास और अन्य उपायों के माध्यम से आजीविका के अवसरों में वृद्धि कर शहरी और ग्रामीण गरीबी को कम करना है|
दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना में दो घटक हैं—एक शहरी भारत के लिए और दूसरा  ग्रामीण भारत के लिए. शहरी घटक का कार्यान्वयन केंद्रीय आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय करेगा जबकि ग्रामीण घटक का कार्यान्वय केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा किया जाएगा|

दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना शहरी योजना के प्रमुख बिंदु

शहरी गरीबों को स्वयं–सहायता समूहों से वित्तीय और सामाजिक जरूरतों को पूरा करने में सक्षम बनाने के लिए प्रत्येक समूह को 10 हजार रुपए का सहयोग दिया जाएगा जो बदले में बैंक लिंकेज के साथ मदद करेगा. 

  • प्रत्येक शहरी गरीब पर 15000 से 18000 रुपये खर्च कर उन्हें कुशल बनाया जाएगा|
  • विक्रेताओं के कौशल को बढ़ावा देने के लिए विक्रेता बाजार का विकास
  • शहर आजीविका केंद्रों के जरिए शहरी नागरिकों द्वारा शहरी गरीबों को बाजारोन्मुख कौशल में प्रशिक्षित करने की बड़ी मांग को पूरा किया जाएगा. प्रत्येक केंद्र को 10 लाख रुपये का पूंजी अनुदान दिया जाएगा|
  • सूक्ष्म उद्यमों (माइक्रो–इंटरप्राइजेज) और समूह उद्यमों (ग्रुप इंटरप्राइजेज) की स्थापना के जरिए स्व– रोजगार को बढ़ावा दिया जाएगा. इसमें व्यक्तिगत परियोजनाओं के लिए 2 लाख रुपये की ब्याज सब्सिडी औऱ समूह उद्यमों पर 10 लाख रुपये की ब्याज सब्सिडी प्रदान की जाएगी. सब्सिडी वाले ब्याज की दर 7 प्रतिशत होगी| 
  • शहरी बेघरों के लिए स्थायी आवासों का निर्माण और अन्य जरूरी सेवाओं का प्रावधान|
  • सभी 4041 शहरों और कस्बों को कवर कर पूरे शहरी आबादी को लगभग कवर किया जाएगा. फिलहाल, शहरी गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम के तहत केवल 790 शहर और कस्बे ही आते हैं|

दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना ग्रामीण योजना के प्रमुख बिंदु

  • Deendayal Antyodaya Yojana योजना के तहत प्रदान किए जाने वाले कौशल अब अंतरराष्ट्रीय मानकों के समतुल्य होंगे और मेक इन इंडिया अभियान के पूरक बनेंगे|
  • आगामी तीन वर्षों अर्थात 2017 तक 10 लाख ग्रामीण युवाओँ को प्रशिक्षित करना|
  • योजना में शामिल होने की न्यूनतम आयु 15 वर्ष; अभी तक आजीविका कौशल कार्यक्रम में शामिल होने के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष थी|
  • विकलांगों के प्रशिक्षण की जरूरतों का भी ध्यान रखा जाएगा और ग्रामीण युवाओं में कौशल विकास के लिए अंतरराष्ट्रीय कंपनियों सहित निजी क्षेत्र की कंपनियों को भी शामिल किया जाएगा|
  • ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगारी की समस्या का समाधान करने के लिए कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्रों की स्थापना होगी|

प्यारे दोस्तों की जानकारी किस प्रकार लगी अगर आप इस से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं|हमारे कमेंट बॉक्स पर लिख दीजिए| हम उसका उत्तर अवश्य देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं| जिसे आप प्रधानमंत्री योजनाओं के साथ अपडेट रहेंगे|

About Vivek Dutta

Check Also

msme loan in 59 minutes

[एमएसएमई] प्रधानमंत्री 59 मिनट 1 करोड़ लोन योजना|ऑनलाइन आवेदन| एप्लीकेशन फॉर्म

एमएसएमई 59 मिनट 1 करोड़ लोन योजना| मोदी 59 मिनट 1 करोड़ लोन स्कीम|msme loan|59 minutes loan website|59 …

2 comments

  1. mukhy mantri vidyarthi protsahan yojna 2018 ka online kab hoga

  2. harishchandra Dixit

    ngo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!