दिल्ली भूमि अभिलेख जमाबंदी खतौनी नकल खसराखतौनी  ऑनलाइन| Delhi land record jamabandi kasara khata online in hindi

दिल्ली भूमि अभिलेख जमाबंदी खतौनी नकल खसराखतौनी ऑनलाइन| Delhi land record jamabandi kasara khata online in hindi

दिल्ली भूमि अभिलेख| जमाबंदी| खतौनी नकल |खसराखतौनी|Delhi land Record jamabandi Kasara khata online in hindi

दिल्ली के प्यारे देशवासियों बिहार की सरकार की तरफ से भूमि सुधार विभाग भूलेख उनकी सुरक्षा के लिए अनूठी पहल की गई है इस पहल के दौरान दिल्ली के भूमि-अभिलेखों, जमाबंदी, खतियान, खसरा खतौनी| अब आप घर बैठे ऑनलाइन देख सकते हैं|भूलेख शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है  भू+लेख – भू का अर्थ भूमि से है और लेख का अर्थ लेखन या कागजी लिखवाई से है। अर्थात् भूमि से सम्बन्धित लिखित रूप में जानकारी।आमतौर पर यह रिकॉर्ड राज्य सरकार के राजस्व भूमि सुधार विभाग भूमि संसाधन विभाग के पास सुरक्षित होते थे|

लेकिन इस  योजना के तहत लोग अपनी जमाबंदी ऑनलाइन देख सकते हैं जैसे कि अपनी भूमि या खेत की जमाबंदी की नकल खसरा नंबर का नक्शा अभी अब आपको इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन देख सकते हैं|भूलेख का सही अर्थ है भूमि से संबंधित लिखित रूप में जानकारी| भूलेख की अलग-अलग जगह में कई नामों से बात होती है |जैसे की जमाबंदी , भूमि अभिलेख , भूमि का ब्यौरा,खेत के कागजात  खेत का नक्शा ,खाता ,इत्यादि नामों से पुकारते हैं|भूलेख का सारा ब्यौरा आपको पटवारी के पास मिल सकता है|

दिल्ली भूमि अभिलेख जमाबंदी खतौनी नकल खसराखतौनी

भूलेख का सही मायने में अर्थ होता है जमीन का पूरा विवरण इसके  द्वारा आप जमीन पर मालिकाना हक जता सकते हैं |क्योंकि इसमें आपकी जमीन का सारा विवरण दिया होता है |जमीन के कागजात के द्वारा आप आसानी से किसी भी बैंक से  से लोन ले सकते हैं| तथा फसल बीमा ले सकते हैं |जमीन का बंटवारा करने के लिए भूलेख ,यानी की जमीन का कागजात बहुत काम आता है|

 भारत सरकार के डिजिटल भारत  मिशन के अनुसार केंद्र और राज्य सरकारें अब सभी प्रकार के जमीन के रिकॉर्ड को डिजिटल रूप में परिवर्तित कर उनकी जानकारियों को ऑनलाइन उपलब्ध करवा रही है|इससे आप अपनी भूमि, खेत या अन्य प्रकार के भुलेख खाते की जानकारी ऑनलाइन देख व डाउनलोड कर सकते है|ऑनलाइन उपलब्ध भूमि रिकॉर्ड की कॉपी में आपको भूमि धारक का नाम, क्षेत्रफल, खाता संख्या, भूमि वर्गीकरण, तहसील, गाँव, पट्टेदार का नाम सहित जमीन के बारे अन्य कई ब्योरे प्राप्त किये जा सकते है|

दिल्ली भूमि अभिलेख जमाबंदी खतौनी नकल खसराखतौनी  के लाभ

  • आप घर बैठे अपने भूमि की जानकारी ऑनलाइन देख सकते हैं|
  •  इस  योजना से लोगों पटवार खाने को जाना नहीं पड़ेगा|
  • बिहार  से आप अपना खसरा नंबर या जमाबंदी नंबर डालकर अपना नक्शा पता कर सकते हैं|
  • इस जमाबंदी योजना से आप रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपकी समय की बचत होगी|

  दिल्ली भूमि अभिलेख जमाबंदी खतौनी नकल खसराखतौनी ऑनलाइन 

  • दिल्ली भूमि अभिलेख यहां पर दिए गए वेबसाइट पर क्लिक करें|
  • इसके बाद अपना जमाबंदी नंबर या खसरा नंबर डालकर जान सकते हैं|
  • आप अपना जिला पर क्लिक करें जो जिले में आप रहते हैं |
  • इसके बाद आप अपनी तहसील और गांव का नाम चुने|
  •  दिल्ली  अपना खाता काम ध्यान से करना होगा इस फोरम में कोई गलती ना करें अगर कोई फॉर्म में गलती करते हैं तो आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिलेगी और आपका फॉर्म  गलत हो जाएगा|

दोस्तों आपको दिल्ली  भूमि अभिलेख खसरा  खतौनी किस प्रकार कि  लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं  इससे संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरुर देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं|

Related Posts
ews/dg admission 2019-20 delhi online|Application ... ews/dg admission 2019-20|ews admission 2019-20 delhi online|ews admission form 2019-20|ews admission 2019-20 date|ews nursery admission 2019-20|nurser...
दिल्ली यूनिवर्सिटी एडमिशन 2019| ऑनलाइन फॉर्म... दिल्ली विश्वविद्यालय प्रवेश 2019|दिल्ली यूनिवर्सिटी एडमिशन |दिल्ली यूनिवर्सिटी दाखिला |दिल्ली यूनिवर्सिटी दाखिला 2019|दिल्ली यूनिवर्सिटी एडमिशन प्रोसे...
दिल्ली राशन कार्ड लिस्ट 2019 सूची| DELHI RATION CA... दिल्ली राशन कार्ड लिस्ट सूची|APL BPL लिस्ट|DELHI RATION CARD LIST ONLINE IN HINDI  दिल्ली के प्यारे देशवासियों झारखंड को डिजिटल बनाने के उद्देश्य स...
(आवेदन)दिल्ली रोजगार मेला 2019 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन... दिल्ली रोजगार मेला 2019|दिल्ली रोजगार मेला रजिस्ट्रेशन| दिल्ली जॉब मेला ऑनलाइन|Delhi Rojgar Mela 2019|रोजगार मेला दिल्ली 2019| दिल्ली के प्यारे देश...
CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (6)
  • comment-avatar
    Virender Singh Rathee 1 year

    Website of Delhi Land records

  • Disqus (0 )
    error: Content is protected !!