Home / sarkaari yojana / अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना 2018|ऑनलाइन अप्लाई |एप्लीकेशन फॉर्म

अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना 2018|ऑनलाइन अप्लाई |एप्लीकेशन फॉर्म

अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना 2018|ऑनलाइन अप्लाई |एप्लीकेशन फॉर्म|अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना|अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना फार्म|अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति |अल्पसंख्यक विद्यार्थी छात्रवृत्ति योजना|

अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना का उद्देश्य मेधावी छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान करना हैI अल्पसंख्यक समुदाय के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए ताकि उन्हें बेहतर उच्च शिक्षा के अवसर प्रदान किये जा सकेंI जिससे वो , उच्च शिक्षा प्राप्त करके रोजगार में वृद्धि पाएंI अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना की शुरुआत वर्ष 2006 में हुईIअल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए इस कार्यक्रम की घोषणा अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय के अंतर्गत जून, 2006 में की गयी थी ताकि अल्पसंख्यकों से संबंधित मामलों पर अधिक ध्यान केन्द्रित किया जा सके। इसका प्रयोजन समग्र नीति एवं योजना, समन्वय, मूल्याकंन एवं नियामक रूपरेखा की समीक्षा तथा अल्पसंख्यक समुदायों के लाभ के लिए विकास कार्यक्रमों को सरल बनाना था।  नये कार्यक्रम का महत्वपूर्ण उद्देश्य निर्धनों के लिए बनायी गयी विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ अल्पसंख्यक समुदायों के अलाभ में रहे व्यक्तियों तक पहुंचे। 

 इन योजनाओं का लाभ अल्पसंख्यकों को समान रूप से मिलनए कार्यक्रमों को अल्पसंख्यकों के ही क्षेत्रों में विकास परियोजनाओं का निश्चित भाग संचालित करने का निश्चय किया गया है। इसमें यह भी प्रावधान रखा गया है कि जहां संभव हो विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत लक्ष्य तथा परिव्यय का 15 प्रतिशत अल्पसंख्यकों के लिए निश्चित किया जाना चाहिए।छात्रवृत्तियां उन छात्रों को प्रदान की जाती हैं जिन्होंने अपने पूर्व अंतिम परीक्षा में 50 प्रतिशत से कम अंक प्राप्त न किये हों एवं उनके अभिभावकों/संरक्षक की सभी स्रोतों से वार्षिक आय स्कूल और उच्च शिक्षा के अंतर्गत क्रमशः 1 लाख एवं 2 लाख रूपये से अधिक न हो।  30 प्रतिशत छात्रवृत्तियां, छात्राओं के लिए निर्धारित की गयी हैं। यदि पात्र छात्राओं की उपयुक्त संख्या उपलब्ध न हो तो निर्धारित किये गए में से शेष छात्रवृत्तियां पात्र छात्रों को प्रदान की जाए। वर्ष में उपलब्ध अल्पसंख्यकों के लिए छात्रवृत्तियों की संख्या सीमित तथा निश्चित है। यह आवश्यक है कि चयन के लिए प्राथमिकता अंकों के बजाय गरीबी पर जोर दिया जाए।

अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना

अल्पसंख्यक छात्रों के लिए केन्द्र सरकार की छात्रवृत्ति स्कीम में अब आय प्रमाण लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। अभी तक तक केन्द्र सरकार की छात्रवृत्ति योजनाओं में आय प्रमाणपत्र की अनिवर्यता नहीं थी।शिक्षा के लिए अवसरों को बढ़ानावर्तमान तथा नयी योजनाओं के माध्यम से आर्थिक गतिविधियों तथा रोजगार में अल्पसंख्यकों के लिए समान हिस्सा सुनिश्चित करनास्वरोजगार के लिए ऋण सहायता बढ़ाना तथा राज्य तथा केन्द्रीय सरकार की नौकरियों में भर्तीढ़ांचागत विकास परियोजनाओं में उन्हें उपयुक्त हिस्सा देते हुए अल्पसंख्यकों के जीवनयापन में सुधार लानासामुदायिक हिंसा एवं असंगति का नियंत्रण तथा प्रतिबंधित करना कार्यक्रम का उद्देश्य है।अल्पसंख्यक समुदायों के लिए तीन छात्रवृत्ति योजनाएं शुरू की गयी हैं जिनके नाम हैं, कक्षा 1 से 10वीं, मैट्रिक पूर्व छात्रवृत्ति, कक्षा 11 से पीएचडी मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति एवं अंडर ग्रेजुऐट एवं स्नात्कोतर स्तर पर तकनीकी तथा पेशेवर पाठ्यक्रमों के लिए गुणवत्ता व साधन छात्रवृत्ति। यह महसूस किया गया है कि छात्रवृत्ति से अल्पसंख्यक समुदायों के अभिभावक अपने बच्चों को शिक्षा देने के लिए प्रोत्साहित होगें। योजना से उनकी शिक्षा की बुनियाद पक्की होगी तथा प्रतिस्पर्धात्मक रोजगार क्षेत्र में स्थान मिलेगा। शिक्षा के माध्यम से सशक्त होना योजना का उद्देश्य है जिससे अल्पसंख्यक समुदाय की सामाजिक- आर्थिक स्थिति का उत्थान होगा।  

 छात्रवृत्तियां उन छात्रों को प्रदान की जाती हैं जिन्होंने अपने पूर्व अंतिम परीक्षा में 50 प्रतिशत से कम अंक प्राप्त न किये हों एवं उनके अभिभावकों/संरक्षक की सभी स्रोतों से वार्षिक आय स्कूल और उच्च शिक्षा के अंतर्गत क्रमशः 1 लाख एवं 2 लाख रूपये से अधिक न हो।  30 प्रतिशत छात्रवृत्तियां, छात्राओं के लिए निर्धारित की गयी हैं। यदि पात्र छात्राओं की उपयुक्त संख्या उपलब्ध न हो तो निर्धारित किये गए में से शेष छात्रवृत्तियां पात्र छात्रों को प्रदान की जाए। वर्ष में उपलब्ध अल्पसंख्यकों के लिए छात्रवृत्तियों की संख्या सीमित तथा निश्चित है। यह आवश्यक है कि चयन के लिए प्राथमिकता अंकों के बजाय गरीबी पर जोर दिया जाए।अल्पसंख्यक समुदायों के छात्रों के लिए गुणवत्ता व साधन आधारित छात्रवृत्ति की अन्य योजना में  पेशेवर तथा तकनीकी पाठ्यक्रमों को अपनाने पर बल दिया है। हर वर्ष पूरे देश में 20 हजार छात्रवृत्तियां अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों के बीच वितरित की जाती हैं।

अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना बजट

 केन्द्रीय बजट 2012-13 में अल्पसंख्यक समुदाय के विद्यार्थियों के उत्थान के लिए और  प्रोत्साहन दिया गया है।  अल्पसंख्यकों से संबन्धित विद्यार्थियों की छात्रवृत्तियों के लिए परिव्यय में उल्लेखनीय वृद्धि की गयी है। केन्द्रीय सामान्य बजट 2017-1 में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय को केन्द्रीय योजना परिव्यय के रूप में 3,135 करोड़ का परिव्यय मिला है। यह वित्तीय वर्ष 2017-18(जो 2750 करोड़ रूपये रहा) के संशोधित बजट अनुमानों से 385 करोड़ रूपये अधिक है।

     मैट्रिक से पूर्व छात्रवृत्ति की राशि 540 करोड़ रूपये से बढ़ाकर 810 करोड़ रूपये;  मैट्रिक के बाद की छात्रवृत्ति की राशि 405 करोड़ रूपये से बढ़ाकर 450 करोड़ रूपये;  गुणवत्ता एवं साधन छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत 2017-18 के लिए संशोधित बजट अनुमान 126 करोड़ रूपये के मुकाबले 198 करोड़ रूपये का प्रावधान रखा गया है। अल्पसंख्यक छात्रों के लिए मौलाना आजाद राष्ट्रीय फैलोसिप की राशि को 47 करोड़ रूपये से बढ़कर 63 करोड़ रूपये का प्रावधान रखा गया है।

अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना के लिए पात्रता

  • इस योजना में भाग लेने के लिए बच्चा कॉलेज जाने वाला होना चाहिए|
  • उस बच्चे की माता-पिता की सालाना आय 100000 से अधिक नहीं होनी चाहिए|
  • बच्चा गरीब घर से होना चाहिए|
  • अल्पसंख्यक स्कॉलरशिप योजना में भाग लेने के लिए बच्चा मेधावी छात्र होना चाहिए |
  • इस योजना का उद्देश्य अल्पसंख्यक समुदाय के छात्राओं को शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करना है|
  • इस योजना में भाग लेने वाले छात्र दसवीं तक के छात्रों के लिए है|
  • इसमें सरकारी व गैर सरकारी शिक्षण संस्थानों में पढ़ने वाले जो पिछले साल 50% से अधिक अंक प्राप्त कर चुके हैं|
  • जिनके पिता की वार्षिक आय एक लाख से अधिक नहीं है वह प्री मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना की पात्रता रखते हैं|
  • ऐसे छात्र समिति के माध्यम से आवेदन प्राप्त कर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं|
  • पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप योजना के बारे में बताया यह योजना ग्यारहवीं से पीएचडी तक के छात्रों के लिए है|
  • इसका नाम सिर्फ वही छात्र पा सकते हैं जिन्होंने पिछले साल 50% से अधिक अंक प्राप्त किए हो

छात्रवृत्ति योजना में आवेदन करने की शर्त :

  • आवेदक किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से तकनीकी व व्यावसायिक पाठ्यक्रम जारी करने के लिए स्नातक स्तर एवं स्नातकोत्तर स्तर पर तकनीकी पाठ्यक्रम को जारी रखने के लिए छात्रवृत्ति के द्वारा आर्थिक सहायता दी जाएगी |
  • इस छात्रवृत्ति योजना में पात्र तकनीकी व व्यावसायिक पाठ्यक्रम में प्रतियोगी परीक्षा या बिना प्रतियोगी परीक्षा के आधार पर कॉलेज में दाखिला प्राप्त करने वाले छात्र होंगे |
  • आवेदक को पाठ्यक्रम शुल्क व भरण-पोषण भत्ता चुने पर छात्र के बैंक खाते में सीधे प्रत्यक्ष डीबीटी के द्वारा जमा कर दिए जाएंगे |
  • इस छात्रवृत्ति योजना के तहत आवेदक कोई अन्य छात्रवृत्ति धारक, पाठ्यक्रम को जारी रखने करने के लिए छात्रवृत्ति/ वजीफ़ा प्राप्त नहीं करेगा |
  • आवेदक व लाभार्थी के माता-पिता/ अभिभावक की वार्षिक आय 2.50 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए |
  • छात्रवृत्ति योजना में लाभ के लिए आधार नंबर की आवश्यकता होगी |

छात्रवृत्ति योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 

इस योजना में लाभ लेने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नेशनल स्कालरशिप पोर्टल पर करना होगा |

छात्रवृत्ति योजना में केंद्र सरकार द्वारा देय शुल्क :

scholarship yojana table

अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना ऑनलाइन अप्लाई एप्लीकेशन फॉर्म

  • इस योजना में आवेदन करने के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करें
  • इसके बाद आपको यहां पर एक फॉर्म दिखाई देगा |
  • इसमें अपनी संपूर्ण जानकारी ध्यानपूर्वक भरे|
  • परंतु ध्यान रहे इस में भरी गई जानकारी बिल्कुल सही होनी चाहिए|
  • यदि आप इसमें कोई गलत जानकारी रखते हैं तो फॉर्म गलत हो जाएगा |
  • फॉर्म भरने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करिए|
  • आप इसका प्रिंट आउट अपने पास संभाल कर रख सकते हैं|

दोस्तों आपको अल्पसंख्यक स्कालरशिप योजना   किस प्रकार कि  लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं  इससे संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरुर देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं|

 

About Vivek Dutta

Check Also

मुस्लिम लड़कियों को शादी शगुन योजना|

मुस्लिम लड़कियों को शादी शगुन योजना|शादी शगुन योजना मुस्लिम लड़कियों |मुस्लिम लड़कियों को 51,000 रुपये …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!