Home / madhya-pradesh- / मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना|ऑनलाइन

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना|ऑनलाइन

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना|ऑनलाइन|मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना मध्य प्रदेश|मध्य प्रदेश अन्नपूर्णा योजना |

मध्य प्रदेश अन्नपूर्णा योजना यह योजना मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई है। मध्य प्रदेश के सभी गरीब परिवारों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंग चौहान ने अन्नपूर्णा योजना का शुभारंभ अप्रैल 2017 पर किया। अन्नपूर्णा योजना के बारे में जागरूकता करने के लिए केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा भोपाल में आयोजित शिविर में उद्घाटन किया गया ।अन्नपूर्णा योजना गरीबों को स्वस्थ भोजन उपलब्ध कराने के लिए मध्य प्रदेश की राज्य सरकार द्वारा शुरू की गयी एक नई योजना है | यह योजना तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन योजना से प्रेरित है, इस योजना को गरीब परिवारों को सस्ता अनाज उपलब्ध कराने और उपभोक्ता जागरूकता के उद्देश्य से भोपाल में आयोजित शिविर में पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद वेंकैया नायडू और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा शुरू किया गया था|अन्नपूर्णा योजना, गरीबों को किफायती दरों पर पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने के लिए मध्य प्रदेश की राज्य सरकार द्वारा शुरु की गई ख़ास योजनाओं में से एक है। ये योजना तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन योजना से प्रेरित है और इसे लागू करने का मकसद भी केवल गरीबों को किसी न किसी रुप में सहायता प्रदान करना है। अब यह सहायता वित्तीय हो यो फिर कम कीमत पर खाद्य सुविधा उपलब्ध कराना|

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना

इस योजना का मूल उद्देश्य गरीब परिवारों को सस्ते मूल्य में अनाज उपलब्ध कराना है |  योजना के अनुसार गरीबी रेखा (BPL) से नीचे के परिवारों को, गेहूं 3 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से और चावल 4.5 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से उपलब्ध कराया जाएगा | भारतीय जनता पार्टी ( भाजपा) के वरिष्ठ नेता वेंकैया नायडू ने बढ़ती कीमतों से जूझ गरीब परिवारों के लिए अन्नपूर्णा योजना को एक वरदान के रूप में वर्णित किया है | उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों  का पालन करना चाहिए और केंद्र सरकार को संविधान में संशोधन करके देश भर में इस योजना को लागू करना चाहिए |अन्नपूर्णा योजना गरीब परिवारों को सस्ता अनाज उपलब्ध कराने और उपभोक्ता को जागरुक करने के उद्देश्य से प्रदेश की राजधानी भोपाल में सबसे पहले आयोजित की गई थी। इसे भी शिवराज सरकार के अधीन शुरु किया गया था, जिसका शुभारंभ स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा राजधानी में किया गया।योजना के जरिए गरीब परिवारों को सस्ते मूल्य में अनाज उपलब्ध किया जाएगा। जिसकी वजह से अब प्रत्येक गरीब कम पैसो में पेटभर खाना खाने का अधिकारी होगा।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों की समृद्धि के लिए गेहूं के समर्थन मूल्य पर 100 रुपये प्रति क्विंटल का Bonus दिया जायेगा | अन्नपूर्णा योजना गरीबों को भूख से बाहर निकालने के लिए शुरू की गई है |  यह योजना गरीबों को बढ़ती महंगाई के इस मुश्किल समय में बड़ी राहत प्रदान करेगा |देश में बीपीएल परिवारों की संख्या में 41 लाख से 62 लाख की वृद्धि हुई है और यह बृद्धि जारी है | यह केंद्र सरकार द्वारा पर्याप्त खाद्यान्न उपलब्ध न करा पाने की वजह से राज्य सरकार ने बड़ी मात्रा में गेहूं की खरीद के द्वारा अन्नपूर्णा योजना शुरू करने का फैसला किया |राज्य सरकार को मध्यप्रदेश में खाद्यान्न के वितरण के लिए निर्धारित गेहूं और चावल के दरों के अलावा कोई राशि प्राप्त नहीं होती  |  राज्य सरकार ने प्रति परिवार 35 किलो की दर से खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार से मांग की है |

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के लिए पात्र

  • आवेदक मध्य प्रदेश राज्य का निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक गरीबी रेखा से नीचे के अंतर्गत होना चाहिए (बीपीएल)।
  • मज़दूर कार्डधारी/ मज़दूर डायरी
  •     विधवा/ निशक्त/ वृद्धावस्था पेंशनधारी
  •      अनाथाश्रम
  •      निराश्रित एवं विकलांग छात्रावासी
  •     भूमिहीन एवं खेतिहीन मज़दूर
  •    वनाधिकारी पट्टेधारी
  •   साइकिल रिक्शा चालक पंजीकृत व्यक्ति
  •     हाथठेला चालक पंजीकृत व्यक्ति
  •     घरेलु कामकाजी महिला
  •      फेरीवाले
  •     रेलवे कुली
  •      मंडी में हम्माल एवं तुलावटी
  •     बंद मिलो के मज़दूर जिनका भुगतान शेष है
  •     पंजीकृत बीड़ी श्रमिक
  •     भूमिहीन कोटवार
  •    पंजीकृत बुनकर एवं शिल्पी
  •    पंजीकृ केश शिल्पी
  •   बहुविकलांग एवं मंदबुद्धि
  •  एड्स पीड़ित
  • अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जाति के परिवार

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के लाभ

गेहूं– योजना के तहत जो अतिगरीब परिवार की श्रेणी में आते है उन्हें 30 किलो प्रति परिवार गेहूं दिया जाएगा। जबकि बी.पी.एल और गैर बी.पी.एल परिवारों को 4 किलो प्रति सदस्य गेहूं दिया जाएगा।

चावल– योजना के तहत जो अतिगरीब परिवार की श्रेणी में आते है उन्हें 5 किलो प्रति परिवार गेहूं उपलब्ध होगा। जबकि बी.पी.एल और गैर बी.पी.एल परिवारों को 1 किलो प्रति सदस्य चावल दिया जाएगा।

चीनी- योजना के तहत जो अतिगरीब परिवार की श्रेणी में आते है उन्हें 1 किलो प्रति परिवार चीनी उपलब्ध होगी। इसी तरह बी.पी.एल और गैर बी.पी.एल सदस्य को भी 1 किलो प्रति परिवार चीनी मिलेगी।

केरोसिन– योजना के तहत जो अतिगरीब परिवार की श्रेणी में आते है उन्हें 5 लीटर प्रति परिवार केरोसिन उपलब्ध होगी। इसी तरह बी.पी.एल और गैर बी.पी.एल सदस्य को भी 4 लीटर प्रति परिवार केरोसिन मिलेगी

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना आवश्यक दस्तावेज

  1. पहचान के सबूत
  2. राशन पत्रिका
  3. बीपीएल कार्ड

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्रीअन्नपूर्णा योजना ऑनलाइन

  1. अन्नपूर्णा योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए: http://www.mp.gov.in/web/guest/home
  2. मध्यप्रदेश खाद्य विभाग के बारे में अधिक जानकारी के लिए : http://www.food.mp.gov.in/website/index.html

दोस्तों मध्य प्रदेश मुख्यमंत्रीअन्नपूर्णा योजना ऑनलाइन किस प्रकार कि  लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं  इससे संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरुर देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं|

 

About Vivek Dutta

Check Also

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना ऑनलाइन आवेदन| एप्लीकेशन फॉर्म

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना|मुख्यमंत्री मेधावी योजना|मेधावी छात्र योजना|मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना|मेधावी छात्र योजना …

One comment

  1. यह Yojna बहुत ही अच्छी है उसे हमारे प्रदेश वासियों को बहुत ही लाभ पहुंच रहा है और हम श्री प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी को हम अपने प्रदेश की तरफ से धन्यवाद कहना चाहेंगे और इसी प्रकार से गरीबों के लिए नई नई योजनाएं लाते रहे और गरीबों को लाभ पहुंचाते रहे हो जय हो जय भाजपा👋

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!