प्रधानमंत्री आवास योजना-होम लोन सब्सिडी दरों 2019

प्रधानमंत्री आवास योजना-होम लोन सब्सिडी दरों 2019

प्रधानमंत्री आवास योजना-होम लोन सब्सिडी दरों 2019|प्रधानमंत्री आवास योजना  होम लोन ब्याज पर सब्सिडी योजना|PMAY होम लोन ब्याज दरें|

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत मिडल इनकम ग्रुप को मिलने वाली ब्याज सब्सिडी के फायदे को अगले 15 महीनों के लिए बढ़ा दिया गया है। यह स्कीम इस साल दिसंबर में खत्म हो रही थी, लेकिन सरकार ने इसे 31 मार्च 2019 तक बढ़ा दिया है। इस स्कीम के तहत होम लोन के ब्याज पर 2.60 लाख रुपये का फायदा मध्यम आय वर्ग के लोग उठा सकते हैं। आवास और शहरी विकास मंत्रालय के सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 दिसंबर 2016 के अपने भाषण में घोषणा की थी कि मध्यम आय वर्ग के लोगों को भी होम लोन सब्सिडी का लाभ दिया जाएगा।

पीएम ने बताया था कि प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (CLSS) का लाभ 31 दिसंबर 2019 तक लिया जा सकता है। 2022 तक सभी को घर के टारगेट को पाने के लिए सरकार ने इस योजना का लाभ लेने की अवधि बढ़ाई है। मंत्रालय के सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा कि टारगेट पूरा करने के लिए हम निजी निवेशकों को किफायती घर बनाने की योजना में निवेश करने के लिए जोड़ना चाहते हैं। 

प्रधानमंत्री आवास योजना-होम लोन सब्सिडी दरों

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत ब्याज दर सब्सिडी योजना में नए सरकारी निर्देश जारी किए गए हैं, जिनके बाद मध्यम आय वर्ग (यानी एमआईजी) को घर खरीदने के लिए कर्ज़ा (होम लोन) लेने पर फायदा मिलेगा. इस योजना की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए वर्ष की पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम अपने संदेश में की थी. अब छह लाख रुपये से 18 लाख रुपये सालाना तक कमाने वाले लोग प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत पहला घर खरीदने पर होम लोन ब्याज में सब्सिडी के हकदार होंगे. इस योजना का नाम क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम फॉर मिडिल इन्कम ग्रुप्स (सीएलएसएस – एमआईजी) रखा गया है|

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की थी कि 12 लाख रुपये तक कमाने वालों को नौ लाख रुपये तक के होम लोन पर चार प्रतिशत की सब्सिडी दी जाएगी, और 18 लाख रुपये तक कमाने वालों को 12 लाख रुपये तक के होम लोन पर तीन फीसदी की सब्सिडी दी जाएगी. होम लोन के ब्याज पर सब्सिडी देने की यह योजना सरकार की ‘सबके लिए घर’ पहले का हिस्सा है, और इस योजना को शुरू में सिर्फ एक साल के लिए लागू किया जाएगा|घर चाहने वालों के लिए एक बहुत अच्छी खबर है, केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत होम लोन ब्याज दरों में और भी अधिक सब्सिडी की घोषणा की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 दिसंबर 2016 को राष्ट्र को दिए अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लिए हुए होम लोन पर ब्याज में सब्सिडी की घोषणा की

प्रधानमंत्री आवास योजना-होम लोन सब्सिडी दरों की प्रमुख बातें

  • क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम फॉर मिडिल इन्कम ग्रुप्स (सीएलएसएस – एमआईजी) के तहत होम लोन के वे सभी आवेदन आएंगे, जो 1 जनवरी, 2018 से अब तक मंज़ूर हो चुके हैं, या जो फिलहाल विचाराधीन हैं. इसके तहत लाभ लेने के लिए आवेदक के नाम से पहले से कोई घर नहीं होना चाहिए.
  • योजना के तहत 12 लाख रुपये वार्षिक तक की आय वालों को 90 वर्ग मीटर तक कारपेट एरिया वाले और 18 लाख रुपये वार्षिक तक की आय वालों को 110 वर्ग मीटर तक कारपेट एरिया वाले घर खरीदने या बनवाने पर लिए गए गृहऋणों पर ही यह लाभ दिया जाएगा.
  • योजना के अंतर्गत लाभ उन्हीं गृह ऋणों पर दिया जाएगा, जिनकी अवधि 20 साल या उससे कम होगी.
  • नेशनल हाउसिंग बैंक के प्रबंध निदेशक तथा मुख्य कार्यकारी (एमडी एवं सीईओ) श्रीराम कल्याणरमन का कहना है कि यदि 8.65 प्रतिशत की सामान्य गृहऋण ब्याज दर के हिसाब से देखा जाए, तो नौ लाख रुपये के गृहऋण पर मिलने वाली चार फीसदी सब्सिडी से ईएमआई 2,062 रुपये प्रतिमाह कम हो जाएगी, और 12 लाख रुपये के गृहऋण पर मिलने वाली तीन फीसदी सब्सिडी से ईएमआई 2,019 रुपये प्रतिमाह कम हो जाएगी,
  • ऋण की इन रकमों पर बनने वाली कुल ब्याज सब्सिडी एक ही बार में सरकार द्वारा बैंक को चुका दी जाएगी, जिससे आवेदक की ईएमआई का बोझ हल्का हो जाएगा
  • मध्यम आय वर्ग के लोगों को नौ लाख रुपये तथा 12 लाख रुपये के कर्ज़ पर 20 साल की अवधि में मिलने वाली सब्सिडी लगभग 2.30 लाख रुपये बैठेगी (जिसका हिसाब 20 वर्ष के गृहऋण पर 9 प्रतिशत ब्याज दर के आधार पर लगाया गया है…)
  • योग्य आवेदकों को सीएलएसएस – एमआईजी के तहत ब्याज सब्सिडी का लाभ पाने के लिए बैंक (ऋण देने वाले) के पास आवेदन करना होगा.
  • ब्याज सब्सिडी को नेशनल हाउसिंग बैंक (एनएचबी) तथा हाउसिंग एंड अर्बन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (हुडको) सीधे ऋणदाता को दे देंगे. ऋणदाता इसके लिए कर्ज़ा लेने वालों से कोई अतिरिक्त प्रोसेसिंग फीस नहीं ले सकेंगे.
  • वाणिज्यिक बैंकों के अतिरिक्त हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, राज्य तथा अर्बन कोऑपरेटिव (सहकारी) बैंक, छोटे वित्तीय बैंकों जैसे अन्य वित्तीय संस्थान तथा गैर-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां-माइक्रो फाइनेंस कंपनियां भी इस योजना के तहत गृहऋण दे सकेंगी.
  • योजना को लागू करने के लिए बुधवार को 45 हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों, 15 बैंकों, दो क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, एक कोऑपरेटिव बैंक, चार छोटे फाइनेंस बैंकों तथा तीन गैर-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों-माइक्रो फाइनेंस कंपनियों ने नेशनल हाउसिंग बैंक (एनएचबी) के साथ करार पर हस्ताक्षर किए हैं

प्रधानमंत्री आवास योजना-होम लोन सब्सिडी दरों

Subsidies Explained Earlier Scheme (2015) – CLSS for EWS/LIG Revised Scheme (2018) – CLSS for MIG
Loan Amount Up to Rs. 6 Lakh Up to Rs. 9 Lakh Up to Rs. 12 Lakh
Eligibility Criteria EWS (Annual income of Up to Rs. 3 Lakh) and LIG (Income of up to Rs. 6 Lakh per annum). Women to be the co-owner along with the beneficiary. MIG 1 – Up to Rs. 12 Lakh per annum MIG 2 – Up to Rs. 18 Lakh per annum
Subsidy Calculation for a loan tenure of up to 15 years 6.5% 4% 3%
Subsidy Amount Rs. 2.2 Lakh for a loan of 6 lakh Rs. 2.35 Lakh for a loan of Rs 9 Lakh Rs. 2.3 Lakh for a loan of Rs. 12 Lakh
Interest Rates and Subsidy
Interest Rate 10.5% 8.5%
Loan Amount Rs. 12 Lakh Rs. 9 Lakh or More Rs. 12 Lakh or More
Amount Eligible for Subsidy Rs. 6 Lakh Rs. 9 Lakh Rs. 12 Lakh
Subsidy Rate 6.5% 4% 3%
Subsidy Amount 2.2 Lakh 2.35 Lakh 2.3 Lakh

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लोन राशि में वृद्धि से मासिक किश्तों में भी काफी कमी आएगी। केंद्र सरकार ने 6 लाख रुपये तक के लोन पर 6.5% सब्सिडी के बजाय अब 4% सब्सिडी प्रदान करेगी और 12 लाख रुपये तक के होम लोन पर 3% सब्सिडी दे रही है। PMAY के तहत होम लोन 20 वर्ष की अधिकतम अवधि के लिए लिया जा सकता है। सरकार ने इस योजना के अन्तर्गत दो नए मध्यम आय वर्ग के समूहों को भी शामिल किया है।इस समय, होम लोन लगभग 9% की ब्याज दरों पर बैंकों और गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC ) से उपलब्ध हैं। 4% की ब्याज छूट के बाद, प्रभावशाली ब्याज दर 5% हो जाती है जिसे क़िस्त (EMI) में काफी कमी हो जाती हैं।

दोस्तों आपको प्रधानमंत्री आवास योजना-होम लोन सब्सिडी दरों किस प्रकार कि  लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं  इससे संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरुर देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं|

Related Posts
प्रधानमंत्री आवास योजना रसीद डाउनलोड... प्रधानमंत्री आवास योजना रसीद डाउनलोड|आवास योजना रसीद डाउनलोड करें|प्रधानमंत्री शहरी योजना रसीद डाउनलोड| प्रधानमंत्री ग्रामीण योजना रसीद डाउनलोड| प्रध...
संकल्प सिद्धि योजना|Sankalp Se Siddhi IN HINDI... संकल्प सिद्धि योजना|संकल्प से सिद्धि|Sankalp Se Siddhi IN HINDI भारत के प्यारे देशवासियों भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने संकल्प से सिद्धि ...
अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना| संपूर्ण जानकारी... अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना|अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना 2019|अटल बीमित व्यक्ति कल्याण स्कीम|Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana|Atal Bimit Vyakti Ka...
गर्भावस्था सहायता योजना| ऑनलाइन आवेदन| एप्लीकेशन फ... गर्भावस्था सहायता योजना|PMMVY मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण|प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना| भारत के प्यारे देशवासियों जैसा कि आप जानते हैं भारत के...
CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (29)
  • comment-avatar
    deepmalagangurde1012@gmail.com 2 months

    मननीय प्रधानमंत्री जी मेरा होम लोन सबसिडी अभि ताक नही मिली कृपया करके सबसिडी दिलवा दो मेरा पेहलाही घर लिया है पर लोन लिया हुआ है लेकींन subsidi नही मिली तो मैने लोन अलग बँक मे लिया है क्या मुझे इस योजना का लाभ नही milega ?पहले बँक लोन वलो ने भी नाही दिया तो क्या करणं आवश्यक है कृपया मुझे लाभ दो

  • comment-avatar
    Shakur MO mansuri 2 months

    Jarinabanu
    Application no 01499856
    Loan no 09000003902
    Dhfl changing
    माननीय परधानमंतरी जी मैरा नाम jarina banu राजसथान की नीवासी हु DHFL से लोन लाया 632000 रूपया amai 6001 रूपयै परती महा ह सर मै कीसत
    भरनै मै असफल हू सर सबसीडी दीलानै की करपा करवायै

  • comment-avatar
    K ram 2 months

    If in a pair man is government servent home loan is taken service, home is resistered to man through this home loan.In this process he is applicable or not for subsidy?

  • Disqus (0 )
    error: Content is protected !!