उत्तर प्रदेश ओबीसी सूची| uttar pradesh obc caste list in hindi

ओबीसी जाति की सूची उत्तर प्रदेश|पिछड़ी जातियों की सूची उत्तर प्रदेश pdf|ओबीसी जाति सूची उत्तर प्रदेश|उत्तर प्रदेश की पिछड़ी जातियों की सूची|अनुसूचित जनजाति की सूची उत्तर प्रदेश|उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति की सूची|पिछड़ा वर्ग सूची उत्तर प्रदेश|पिछड़ी जातियों की सूची उत्तर प्रदेश|ओबीसी जाति लिस्ट up|obc caste list in up|obc caste list in up 2018|obc list in up in hindi|obc caste list in up 2018|

प्यारे दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में उत्तर प्रदेश ओबीसी सूची जानकारी देने जा रहे हैं| हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार घर बैठे ऑनलाइन ओबीसी जाति की सूची उत्तर प्रदेश देख सकते हैं| इसलिए इस आर्टिकल विस्तार पूर्वक और ध्यानपूर्वक से पढ़िए| हम इस आर्टिकल में पिछड़ी जातियों की सूची उत्तर प्रदेश pdf की संपूर्ण जानकारी देंगे| आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार घर बैठे ऑनलाइन की ओबीसी जाति सूची उत्तर प्रदेश जांच कर सकते हैं|

त्तर प्रदेश की 17 अति-पिछड़ी जातियों को अनुसूचित-जातियों की सूची में शामिल कराने का प्रयास हैं|उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने उत्तर प्रदेश की 17 अति पिछड़ी जातियां जिनमें निषाद, बिन्द, मल्लाह, केवट, कश्यप, भर, धीवर, बाथम, मछुआरा, प्रजापति, राजभर, कहार, कुम्हार, धीमर, मांझी, तुरहा तथा गौड़ आदि शामिल हैं, को अनुसूचित जातियों की सूची में शामिल करने के लिए प्रस्ताव तैयार कर केन्द्रीय सरकार को भेजने का निर्णय लिया है|

उत्तर प्रदेश अनुसूचित जनजाति की सूची 

अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) एक वर्ग है, जो जातियाँ वर्गीकृत करने के लिए भारत सरकार द्वारा प्रयुक्त एक  सामूहिक शब्द है। यह अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के साथ-साथ भारत की जनसंख्या के कई सरकारी वर्गीकरण में से एक है ‘भारतीय संविधान में ओबीसी “सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछड़े वर्गों ‘के रूप में वर्णित किया जाता है, और भारत सरकार उनके सामाजिक और शैक्षिक विकास को सुनिश्चित करने के लिए हैं – उदाहरण के लिए, ओबीसीसार्वजनिक क्षेत्र के रोजगार और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में 27% आरक्षण के हकदार हैं। 

सरकार ने 16 अति पिछड़ी जातियों को अनुसूचीत जातियों की सूची तथा 3 अनुसूचीत जातियों को अनुसूचीत जनजाति की सूची में शामिल करने के लिए शासनादेश जारी किया था|

अ” श्रेणी में उन जातियों को रखा गया था जो पूर्ण रूपेण भूमिहीन, गैर-दस्तकार, अकुशल श्रमिक, घरेलू सेवक हैं और हर प्रकार से ऊँची जातियों पर निर्भर हैं। इनको 17% आरक्षण देने की संस्तुति की गयी थी।

“ब” श्रेणी में पिछड़े वर्ग की वह जातियां, जो कृषक या दस्तकार हैं। इनको 10% आरक्षण देने की संस्तुति की गयी थी।

“स” श्रेणी में मुस्लिम पिछड़े वर्ग की जातियां हैं जिनको 2.5 % आरक्षण देने की संस्तुति की गयी थी।

वर्तमान में उत्तर प्रदेश में पिछड़ी जातियों के लिए 27% आरक्षण उपलब्ध है|

up ओबीसी जाति लिस्ट ऑनलाइन कैसे देखे

उत्तर प्रदेश सभी पिछड़ी जाति जनजाति सूची ऑनलाइन देखने के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करके|

पिछड़ी जातियों की सूची उत्तर प्रदेश pdf

उत्तर प्रदेश अनुसूचित पिछड़ी ओबीसी जाति की सूची  पीडीएफ फाइल ( pdf) में देखने के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करिए|

प्यारे दोस्तों उत्तर प्रदेश अनुसूचित जनजाति की सूची  की जानकारी किस प्रकार लगी अगर आप इससे संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं हमारे कमेंट बॉक्स पर लिख दीजिए हम उसका उत्तर अवश्य देंगे आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं जिससे आप उत्तर प्रदेश की योजनाओं के साथ अपडेट रहेंगे|

Related Posts
उत्तर प्रदेश लोकसभा उपचुनाव/परिणाम रिजल्ट 2018|गोर... उत्तर प्रदेश लोकसभा उपचुनाव रिजल्ट| यूपी लोकसभा उपचुनाव परिणाम|लोकसभा उपचुनाव रिजल्ट उत्तर प्रदेश| उत्तर प्रदेश के प्यारे देशवासियों योगी आदित्यना...
{योगी} उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना| ऑनलाइन आव... यूपी कन्या सुमंगला योजना| कन्या सुमंगला योजना 2019|कन्या सुमंगला योजना|उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना 2019|कन्या सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश|kanya su...
वाराणसी नगर निगम चुनाव रिजल्ट 2017...  वाराणसी नगर निगम चुनाव रिजल्ट 2017|वाराणसी नगर निगम चुनाव विजेता सूची| वाराणसी के प्यारे देशवासियों आज हमें पार्टिकल के माध्यम से आपको वाराणसी नगर न...
उत्तर प्रदेश एक प्रशिक्षु एक प्रवेश योजना|ऑनलाइन आ... उत्तर प्रदेश एक प्रशिक्षु एक प्रवेश योजना|यूपी एक प्रशिक्षु एक प्रवेश योजना|उत्तर प्रदेश EK प्रशिक्षु EK प्रवेश योजना|Uttar Pradesh EK Prashikshu EK P...

6 Comments

Add a Comment
  1. Sir muslim baghwan or mali kis category me aate hain.please answer de dijiye ga.

  2. गौतम की जाती और ईन की कैटगीरी मे आते है

  3. Nishad kisame ate hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Yogi Yojana © 2019 Frontier Theme
error: Content is protected !!